हज का हुक्म

हज का हुक्म

0
719

بِسْمِ اللّٰہِ الرَّحْمٰنِ الرَّحِیۡمِ

अल्लाह तआला क़ुरआन पाक मे फ़रमाता है-

 

وَلِلّٰہِ عَلَی النَّاسِ حِجُّ الْبَیۡتِ مَنِ اسْتَطَاعَ اِلَیۡہِ سَبِیۡلًؕ

(और अल्लाह का हक़ है लोगों पर उसके घर का हज करना जो उसके रास्ते की ताक़त रखता हो)

 (सूरह आले इमरान, आयत-96)

और फ़रमाया-

وَاَتِمُّوا الْحَجَّ وَالْعُمْرَۃَ لِلّٰہِؕ

(और पूरा करो हज और उमरा अल्लाह के लिये)

(सूरह अलबक़रा, आयत-196)

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY